लिंग (Ling/Gender) की परिभाषा, भेद, प्रकार और उदहारण

लिंग की परिभाषा (Ling Ki Paribhasha)

संज्ञा के जिस रूप से व्यक्ति अथवा वस्तु की पुरुष जाति या स्त्री जाति का बोध हो, उसे लिंग कहते है।

विभाग ‘अ’विभाग ‘ब’
राहुल स्कूल जाता है।नेहा स्कूल जाती है।
बैल नहा रही है।गाय दूध दे रही है।
लड़का नाच रहा है।लड़की नाच रही है।
कौआ पानी पी रहा है।कोयल गा रही है।
सागर लहरा रहा है।नदी बह रही है।

विभाग ‘अ’ के वाक्यों में रेखांकित शब्द राहुल, बैल, लड़का, कौआ और सागर संज्ञाएँ है। यह सब संज्ञाएँ पुरुष जाति का बोध कराती हैं, इसलिए यह पुल्लिग शब्द है।

विभाग ‘ब’ के वाक्यों में रेखांकित शब्द नेहा, गाय, लड़की, कोयल और नदी संज्ञाएँ हैं। यह सभी शब्द संज्ञाएँ
स्त्री जाति का बोध कराती हैं, इसलिए यह स्त्रीलिंग शब्द है।

लिंग के भेद (Ling Ke Bhed)

हिंदी में दो लिंग है, निचे देख सकते है।

  • पुल्लिंग
  • स्त्रीलिंग

लिंग के प्रकार (Ling Ke Prakar)

पुल्लिग

संज्ञा के जिस रूप से पुरुष जाति का बोध होता है, वह पुल्लिग कहलाता हैं। जैसे – लड़का, आदमी, बैल, हिरन, कौआ, सागर, पर्वत, मैदान आदि ।

स्त्रीलिंग

संज्ञा के जिस रूप से स्त्री जाति का बोध होता है, वह स्त्रीलिंग कहलाता हैं। जैसे – राधा, गाय, हिरनी, कोयल, नदी, हवा, घास आदि ।

पुल्लिग शब्दों की सामान्य पहचान (Pulling Shabd Ki Samanya Pahachan)

शरीर के अवयवों के नाम

जैसे चेहरा, आँखें, जीभ, मुँह, दांत, होंठ, गाल, बाल, कमर, पेट, घुटना, पैर, हाथ, गर्दन, उंगली आदि।

देशों के नाम

जैसे भारत, अमेरिका, आयरलैंड, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, भूटान, ब्राज़ील, कैनेडा, चीन, साउथ अफ्रीका, फ्रांस, जर्मनी आदि।

पर्वतों के नाम

जैसे हिमालय, अरावली, सहयाद्रि, काराकोरम, गंगा आदि।

महीनों के नाम

जैसे जनवरी, फरवरी, मार्च, अप्रैल, मई, जून, जुलाई, अगस्त, सप्तबेर, अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर।

दिनों के नाम

जैसे सोमवार, मंगलवार, बुधवार, गुरुवार, शनिवार, रविवार।

वृक्षों के नाम

जैसे आम, बेल, बाबुल, बाँस, नारियल, पीपल, अशोक आदि।

अनाजों के नाम

जैसे कॉर्न, चावल, गेहूं, दलिया, जौ, बाजरा, ज्वार, साबुदाना आदि।

द्रव पदार्थों के नाम

जैसे शरबत, दूध, दही, पानी, मक्खन, तेल, घी आदि।

धातुओं के नाम

जैसे सोना, चांदी, लोहा, पीतल, तांबा, काँसा, शीशा, जस्ता, इस्पात, कांस्य, प्लेटिनम आदि।

रत्नों के नाम

जैसे हीरा, माणिक, गोमेद, नीलम, पुखराज, पन्ना, मूंगा, मोती आदि।

पुल्लिंग शब्दों के उदाहरण (Pulling Shabdon Ke Udaharan)

  • उसका बाल कितना बड़ा है।
  • तुम्हारें गाल पर कुछ लगा है।
  • उसके हाथ में कुछ है।
  • उसका सिर दुख रहा है।
  • उसके दांत में कीड़े पड़ गए है।
  • भारत ने इंग्लैंड को क्रिकेट मैच में दो रन से हरा दिया।
  • फरवरी में रोहित का जन्मदिन है।
  • रविवार को स्कूल की छुट्टी है।
  • आम बहुत स्वादिष्ट होता है।
  • नारियल का पेड़ बहुत बड़ा होता है।
  • चावल की कीमत बढ़ गयी है।
  • दूध शरीर के लिए बहुत अच्छा होता है।
  • सोना बहुत सस्ता हो गया है।
  • गौरव को मंदिर के पास हीरा मिला।

स्त्रीलिंग शब्दों की सामान्य पहचान

नदियों के नाम

जैसे सिंधु, झेलम, रावी, गंगा, यमुना, गोदावरी, नर्मदा, कृष्णा, कावेरी आदि।

तिथियों के नाम

जैसे चतुर्थी, दूज, तीज, पंचमी, नवमी, एकादशी, पूर्णिमा, अमावस, चतुर्दशी आदि।

नक्षत्रों के नाम

जैसे भरणी, अश्विनी, कृतिका, रोहिणी, आश्लेषा, माघ, हस्त, चित्रा, आर्द्रा आदि।

कुछ मनोभावों के नाम

जैसे करुणा, लज्जा, तृष्णा, दया, व्यथा, पीड़ा, ममता, खुशी आदि।

भाषाओं के नाम

जैसे हिंदी, कन्नड़, कोंकणी, तेलुगु, संस्कृत, गुजराती, मराठी, तमिल आदि।

मसालों के नाम

जैसे हल्दी, हींग, तेज पत्ता, जीरा, अजवाइन, लौंग, करी पत्ता, नामक, धनिया, मिर्च, मेथी, इलायची आदि।

खाद्य पदार्थों के नाम

जैसे रोटी, दाल, पूड़ी,,पनीर, शहद, कचौड़ी, खीर, जलेबी, मलाई, खिचड़ी आदि।

स्त्रीलिंग शब्दों के उदाहरण (Striling Shabdon Ke Udaharan)

  • सिंधु नदी भारत की सबसे लंबी नदी है।
  • गंगा उत्तरी भारत की सबसे प्रमुख नदी है।
  • झेलम नदी कश्मीर में है।
  • यमुना नदी सबसे लंबी है।
  • कावेरी नदी कर्नाटक के कोगाड़ू पहाड़ियों से निकलती है।
  • कल पूर्णिमा है।
  • आज गणपत बहुत खुश है।
  • विजय को गुजराती भाषा नही आती।
  • उसने मिर्ची खाई है।
  • मुझे खीर बहुत पसंद है।
पुल्लिंगस्त्रीलिंग
मालीमालिन
कुम्हारकुम्हारिन
ग्वालाग्वालिन
कुंजड़ाकुंजड़िन
तेलीतेलिन
सुनारसुनारिन
साथीसाथिन
बाघबाघिन
ठाकुरठकुराइन
पंडितपंडिताइन
साहुसहुआइन
श्रीमानश्रीमती
बुद्धिमानबुद्धिमती
विद्यार्थीविद्यार्थिनी
योगीयोगिनी
हाथीहथिनी
बूढ़ाबुढ़िया
कुत्ताकुतिया
अभिनेताअभिनेत्री
श्रोताश्रोत्री
धाताधात्री
चौधरीचौधराइन
बाबूबबुआइन
लालाललाइन
भाग्यवानभाग्यवती
गुणवानगुणवती
तपस्वीतपस्विनी
यशस्वीयशस्विनी
तेजस्वीतेजस्विनी
चूहाचुहिया
गुड्डागुड़िया
दातादात्री
नेतानेत्री
पितामाता
भाईबहन या भाभी
पतिपत्नी
राजारानी
बैलगाय
युवकयुवती
पुरुषस्त्री
मर्दऔरत
नरमादा
ससुरसास
कविकवयित्री
सम्राटसम्राज्ञी
विधुरविधवा
वरवधू
साँपसाँपिन
सियारसियारिन
लुहारलुहारिन
धोबीघोबिन
मालिकमालकिन
कसाईकसाइन
नाईनाइन
दर्जीदर्जिन

हिंदी व्याकरण (Hindi Grammar)

  1. संज्ञा
  2. सर्वनाम
  3. विशेषण
  4. क्रिया
  5. कारक
  6. विराम चिन्ह
  7. लिंग
  8. वचन
  9. पर्यायवाची (समानार्थी) शब्द
  10. विलोम (विरुधार्थी) शब्द
  11. अनेकार्थी शब्द

Tags

Ling badlo, ling in hindi, ling ki paribhasha, ling kise kahate hain.